Vikings कौन थे लुटेरे या योद्धा

नमस्कार दोस्तों आज हम फिर एक New topic के साथ आये है Vikings का नाम तो आप सब ने सुना ही होगा अब तो Netflix पर इस पर एक webseries भी बन गयी है vikings के नाम से लगता है की दूर किसी देश के लोगो का समुदाय होगा But कुछ नाम सुन ने में जितने अच्छे लगते है वैसे होते नहीं.इनके आने की खबर से ही लोगो की रूह काँप जाती थी

वैसे तो इतिहास में कई लुटेरे हुए पर Vikings को कभी भुला नहीं जा सकता ये आंधी की तरह आते थे और लूट के बाद तूफान की तरह चले जाते थे और लूट के दौरान कितने लोगो को बेरहमी की तरह मर दिया जाता था

Vikings कौन थे

उत्तरी यूरोप के 7वीं से लेकर 11वीं सदी ईसवी में स्कैंडिनेवियाक्षेत्र में रहने वाले उन ‘नॉर्स’ (Norse) लोगों को कहा जाता था जो सिपाही, व्यापारी, समुद्री डाकू या खोजयात्री बनकर यूरोप एशिया और उत्तरी अटलांटिक द्वीपों में जाते थे

और अक्सर वहां जाकर बसते थे वे अपनी लम्बी नौकाओं में कुस्तुंतुनिया, रूस, आइसलैंड, ग्रीनलैंड, स्पेन इत्यादि जाते थे। अक्सर वे जाकर शहरों-प्रान्तों पर धावा बोलते थे और उनके धन, संपत्ति और कभी-कभी स्त्रियाँ और बच्चों को भी उठाकर ले जाते थे

जीवन का रहन सहन

क्या शुरुआत में ये समुदाय इतना क्रूर था या हालातो ने इन्हे बना दिया आर्थिक स्तिथि अच्छी न होने पर जीवन जैसे तैसे गुजार रहे थे ये लोग बहुत गरीब थे और घर चलने का माध्यम था खेती पर एक बात थी जो इन्हे दुसरो से अलग बनाती थी वो थी निडरता समुंदर के पास रहते थे और मछलिया पकड़ने में माहिर थे

किसी भी काम को करने की लिए इन्हे नाव की जरूरत पड़ती थी नाव बनाने और चलने में इन्होने महारत हासिल कर ली थी जीवन की सभी गतिविदियों ने इन्हे साहसी बना दिया था मुश्किल का सामने करते करते Vikings दिल और दिमाग से मजबूत हो गए

लूट की शुरुआत

उन्होंने इंग्लैंड को अपनी पहली लूट के लिए चुना अपनी नावों में सवार होकर वे अपनी पहली लूट के लिए England गए थे शुरुआत में उन्होंने एक मठ को अपना निशाना बनाया क्युकी बो मठ अपनी कला और खजाने के लिए बहुत प्रसिद्ध था इतना खजाना देख कर Vikings के सर पर खून सवार हो गया

और उन्होंने कई मठबासीओ का सर कलम कर दिया और अपने खौफ को बरकरार रखने के लिए कुछ लोगो को जिन्दा छोड़ दिया ताकि वो और लोगो को बता सके की Vikings क्या है और कितने क्रूर है

लुटेरे या योद्धा

इस लूट के बाद उनके होंसले और बढ़ गए लूट का ये खेल जीविका को कमाने का अच्छा तरीका लगने लगा England के बाद आस पास की बाकि जगहों को लौटने के लिए उन्होंने छोटी नावों की जगह बड़ी जहाजों का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया खेतो में काम करने वाले लुटेरे बन चुके थे जहाँ उनका मन करता वहां बेखौफ लूटपाट करते

लोगो को मारना और लुटे हुए सामान से अपना घर भरना,लूटेरे शब्द इनके लिए बहुत छोटा था ये एक हत्यारे समूह की तरह जाने जाते थे अनजान जगह पर जाना और लोगो को परेशान करना इनका पेशा बन गया था वे जहाँ भी जाते वहां से कुछ लोगो को बंदी बनाकर साथ ले जाते

और उन लोगो को वे अमीर लोगो को बेच दिया करते थे और इस तरह ने मानव तस्करी भी चलु कर दी पुरे यूरोप में इन्होने हाहाकार मचा कर रखा था

Vikings का अंत

हर बुराई का अंत होता है उसके लिए कोई न कोई फरिश्ता जरूर आता है इंग्लैंड के भी एक राजा अल्फ्रेड ने साहस किया उनसे लड़ने का वाइकिंग की तमाम कोशिशों के बाद भी वे अल्फ्रेड को नहीं हरा सके अल्फ्रेड ने पूरी ताकत के साथ इनका सामना किया और धीरे धीरे इनको ख़त्म कर दिया

वाइकिंग अपने ही जाल में फंस गए ,अल्फ्रेड ने उनके लीडर को मर गिराया और उन्हें परास्त किया आज भी का नाम सुनकर लोग घबरा जाते है पर हर बुराई का अंत तय है अल्फ्रेड की बहादुरी ने पुरे England को बचा लिया उनके इस साहस को लोग आज भी याद करते है

आशा करता हु यह जानकारी आपके लिए काफी महत्ब्पूर्ण रहेगी अगर आगे भी ऐसी रोचक जानकारी पाना चाहते है तो पोस्ट को शेयर करे और अपना कोई सुक्षाव देना चाहते है तो कमेंट करे,धन्यवाद

जगरूकभारत

0 thoughts on “Vikings कौन थे लुटेरे या योद्धा”

Leave a Comment

%d bloggers like this: